728 x 90

ताज़ा ख़बरें

  • hindi/28617037_1790611337657882_4816918251236279435_o.jpg
    विश्व नारी दिवस : नर और नारी एक दुसरे के पूरक, एक नारीत्व ऐसा भी

    पाश्चात्य सभ्यता के रंग में डूबे, स्वयं को पुरूष से श्रेष्ठ साबित करने की होड़ और द्वंद्व ने समाज और स्त्री दोनों को ही पतित कर दिया। नहीं तो ऐसा क्या हो गया कि यत्र नार्यस्तु रमन्ते तत्र देवता और जननी जन्मभूमिस्च स्वर्गाद्यापी गरीयसी की भूमि को पितृसत्तात्मक कह दिया जाता है? स्त्री और पुरुष दोनों समाज की एक धुरी हैं, दंभ में आकर समूल नष्ट न करें।

    और पढ़ें
  • hindi/lahore-resolution-3-og.jpg
    रहमत अली : कौन था बँटवारे और पाकिस्तान का असली मास्टरमाइंड?

    रहमत अली ने लिखा था कि यह धारणा ‘एक सफेद झूठ’ है कि भारत एक राष्ट्र है। उसने नारा दिया कि उत्तर-पश्चिम भारत के उन प्रांतों-पंजाब, कश्मीर, सिंध, सीमा प्रांत और बलूचिस्तान—को मिलाकर, जहाँ मुसलमानों का बहुल है, एक मुस्लिम राष्ट्र का निर्माण किया जाए। उन्होंने कसम खाई थी—‘हम हिंदुस्तान को बँटवा देंगे या फिर हिंदुस्तान को तबाह कर देंगे?' अचानक भारत के सामने गृहयुद्ध का वही भयानक दृश्य उभरने लगा जिससे दुखी होकर गाँधी नोआखाली के जंगलों में भटक रहे थे।

    और पढ़ें
  • hindi/Eho4EX2VoAMsOI6.jpg
    ये कौन सी शिवसेना है, ये कौन सी मराठी अस्मिता है?

    कार्टूनिस्ट बालासाहेब ठाकरे की शिवसेना ने तब सारी मर्यादाएँ लांघ दी, सारे सिद्धांत तोड़ दिए, जब एक कार्टून बनाने मात्र से गुंडे भेज कर एक पूर्व नेवी अफसर को मारा पिटा गया। किसने सोचा था कि हिन्दू ह्रदय सम्राट की शिवसेना के नाक के नीचे 3 साधुओं को पुलिस के सामने मौत के घाट उतार दिया जाएगा और सरकार 90 दिन के बाद चार्जशीट भी दायर नहीं करेगी। किसने सोचा था कि यही शिवसेना बॉलीवुड के ड्रग माफियाओं और कातिलों को बचाने के लिए पूरा सिस्टम झोंक देगी? शिवसेना मराठी अस्मिता को और कितना चोट करना चाहती है?

    और पढ़ें


Page 1 of 2

अनुशंसित पोस्ट

हाल की पोस्ट